ब्रजभाषा के कृष्ण-काव्य में माधुर्य-भक्ति के कवि

                                              An  e-book free of cost

By: अशर्फी लाल मिश्र

* निम्बार्क सम्प्रदाय 

1.श्रीभट्ट
2.हरिव्यासदेव 
3.रूपरसिक 


                                                             Asharfi Lal Mishra

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

वात्सल्य रस के प्रधान कवि : सूरदास

e-Valmiki Ramayana ( Sanskrit text with translation in English ) : Contents

स्वामी हरिदास : हरिदासी सम्प्रदाय के संस्थापक